Pranab’s birthday shayari

समेट लो इन पलों को, नजाने ये पल कल हो ना हो, अगर हो भी लम्हे तो क्या मालूम इन पलों मैं dms92 सामिल हो ना हो। लाख लाख बधाइयाँ दोस्तों इस मोबारक मौके पे, क्या मालूम इन पलों मैं सामिल कल हम हो ना हो।

हैप्पी बर्थडे ज्ञान बाबा और संगीता 🙏

Advertisements